Dua Shayari in Hindi – Dua Shayri Status HD Photo for Social Media

    There are many people who are looking for Dua Shayari Status in Hindi and Urdu. We want to tell them that this page has a large and unique collection of such kind of shayari status in both script. Here you will find all quotes with relevant photos. Dua means prayer.

    When lovers pray for each other they need some quotes or words to show their beloved that they are praying for God. And such kind of collection of words is known as Dua Shayari Status. This page consist Hindi Dua Shayari, Best Dua Shayari, Dua Shayari SMS, New Dua Shayari, Urdu Dua Shayari, New Hindi Dua Shayari etc.

    Dua Shayari in Hindi

    True lovers make some prayer for their beloved. They pray to God for their beloved’s health and age. Today everyone want to show their love with their lover on social media. So they need such type of shayari collection that will fulfil their prayers.

    This site has a unique and latest collection of Hindi Dua Shayari and also Urdu Dua Shayari that you will all like them. After that you have to select that quote whom you like the most and then share it on social media with your lover or in group with your friends.

    Dua Shayari Status in Hindi

    If you are searching for awesome Dua Shayari Status in Hindi then you are on the right website. Here you will find Hindi, Urdu and English font of dua shayari and quotes. If you have any kind of shayari or photos that are relevant to this site then you can send them to us. We will post them with your name on this site.

    Also if you like the above shayari quotes of Dua Shayari Status then share this site with friends on social media and groups. Visit the page regularly to find more and latest photos of every kind of shayari status.

     

    या खुदा मेरी दुआओं में इतना असर कर दे,
    खुशियाँ उसे दर्द उसका मुझे नजर कर दे,
    दिलों से दूरिओं का एहसास मिटा दे ऐ मौला,
    नहीं तो उसके आँचल को मेरा कफ़न कर दे।

     

    मेरी तलब था एक शख़्स
    वो जो नहीं मिला तो फिर,
    हाथ दुआ से यूँ गिरा
    भूल गया सवाल भी।

     

    सच तो यह है कि दुआ ने न दवा ने रखा
    हमको ज़िंदा तेरे दामन की हवा ने रखा

     

    मेरा दिल भी कितना भोला है टूट कर रोते हुए भी,
    अपने सनम की जिंदगी की ख़ुशी की दुआ मांगता हैं.

     

    खुदा करे के अचानक वो सामने आकर,
    मेरे लबों को नए कुछ सवाल दे जाये।

     

    दिल मिले किसी को तो किसी को दिलदार मिले,
    किसी को मिले गुल तो किसी को गुलजार मिले,
    फूल मिले किसी को तो किसी को फूलों का हार मिले,
    दुआ है मेरी रब से कि मुझे आप सबका प्यार मिले।

     

    दुआ क़ुबूल नहीं हो रही तो,
    समझ जाएँ वक़्त आज़माइश का है।

     

    लौट आती है हर बार दुआ मेरी खाली,
    जाने कितनी ऊँचाई पर खुदा रहता है।

     

    क्या पता उसको कि वो मुझ को सज़ा देता है,
    वो तो मासूम है, जीने की दुआ देता है

     

    हज़ार बार जो माँगा करो तो क्या हासिल,
    दुआ वही है जो दिल से कभी निकलती है।

     

    वो आ गए मिलने हमसे एक शाम तन्हाई मिटाने,
    और हम समझ बैठे इसे अपनी दुआओं का असर।

     

    हमसे भी पूछ लो कभी हाल-ए-दिल हमारा
    कभी हम भी कह सकें की दुआ है आपकी

     

    तेरे ग़मों को तेरी खुशी कर दे ,
    हर सुबह तेरी दुनिया में रौशनी भर दे,
    जब भी टूटने लगे तेरी साँसे,
    खुदा तुझमे शामिल मेरी ज़िन्दगी कर दे।

     

    सब कुछ मांग लिया तुझ को खुदा से मांग कर
    उठते नहीं हैं हाथ मेरे इस दुआ के बाद

     

    तुम तो दुनिया से निराली ही सजा देते हो।
    कितने चालाक हो क़ातिल दुआ देते हो.

     

    हम दुआओं में दिल से दुआ करते हैं,
    हाथ फैलाये रब से इल्तज़ा करते हैं,
    उन पर गम का साया न आने पाए,
    जो दिल से हमें अपना कहा करते हैं।

     

    काश कि बचपन में ही तुझे माँग लेते,
    हर चीज मिल जाती थी दो आंसू बहाने से।
    अब तो दुआएं भी कबूल नहीं होती।

     

    तेरी मोहब्बत की तलब थी
    इसलिए हाथ फैला दिए,
    वरना हमने तो अपनी
    ज़िन्दगी की भी दुआ नहीं माँगी।

     

    धागा ही समझ, तू अपनी “मन्नत” का मुझे
    तेरी दुआओ के मुकम्मल होने का दस्तूर हूँ मैं

     

    ना जाने कौन मेरे हक़ में दुआ पढता है,
    डूबता भी हूँ तो समंदर उछाल देता है.

     

    उल्फत-ए-यार में खुदा से और माँगू क्या,
    ये दुआ है कि तू दुआओं का मोहताज न हो।

     

    सर झुकाने की खूबसूरती भी,
    क्या कमाल की होती है,
    धरती पर सर रखा और,
    दुआ आसमान में कुबूल हो जाती हे।

     

    जब कभी दिल दुआ देगा,
    तो नफरत को मिटा देगा,
    ये बेचारा इंसान क्या देगा,
    जो भी देगा खुदा देगा।

     

    कैसे दे दूँ बद्दुआ उसे मैं,
    एकलौती दुआ थी मेरी कभी वो.

     

    तकदीर लिखने वाले एक एहसान लिख दे,
    मेरी मोहब्बत की तकदीर में मुस्कान लिख दे,
    ना मिले ज़िन्दगी में कभी भी दर्द उसको,
    चाहे उसकी किस्मत में मेरी जान लिख दे।

     

    दुआ करो वो मुझको मिल जाए यारो
    ‪सुना है ‪दोस्तों की ‪दुआ में फरिश्तों की ‪‎आवाज़ होती है

     

    भूल न जाऊं माँगना उसे हर नमाज़ के बाद,
    यही सोच कर हमने नाम उसका दुआ रक्खा है।

     

    माँगा करेंगे अब से दुआ हिज्र-ए-यार की,
    आखिर को दुश्मनी है दुआ की असर के साथ।

     

    महफ़िल थी दुआओ की, हमने भी एक दुआ की,
    तुम खुश रहो सदा, मेरे साथ भी मेरे बाद भी

     

    जिंदगी में न कोई राह आसान चाहिए ,
    न कोई अपनी खास पहचान चाहिए,
    बस एक ही दुआ मांगते हैं रोज भगवान से,
    आपके चेहरे पे प्यारी सी मुस्कान चाहिए।

     

    हमारे सब्र का इम्तिहान न लीजिये,
    हमारे दिल को यूँ सजा न दीजिये,
    जो आपके बिना जी न सके एक पल,
    उन्हें और जीने की दुआ न दीजिये।

     

    मैंने वहाँ भी तुझे माँगा था,
    जहाँ लोग सिर्फ खुशियाँ माँगा करते हैं।

     

    पिछले बरस था खौफ की तुझको खो ना दूँ कही,
    अब के बरस ये दुआ है की तेरा सामना ना हो

     

    हमने ये तो नहीं कहा की,
    आपके लिए कोई दुआ ना मांगे,

     

    बस इतना कहते है की दुआ में,
    कोइ आपको ना मांगे।

     

    सुना है बारिश में दुआ कबूल होती है
    अगर इज़ाज़त हो तो तुम्हें मांग लू

     

    खुदा करे सलामत रहे किसी दुआ की तरह
    एक तू दूसरा मुस्कुराना तेरा

     

    दुआ करो मैं कोई रास्ता निकाल सकूँ,
    तुम्हे भी देख सकूँ, खुद को भी सम्भाल सकूँ

     

    तेरे इख्तियार में क्या नहीं,
    मुझे इस तरह नवाज़ दे,
    यूं दुआएं मेरी कुबूल हों,
    कि मेरे लब पे कोई दुआ न हो।

     

    जाने किस बात पे उस ने मुझे छोड़ दिया है,
    मैं तो मुफलिस था किसी की दुआओं की तरह।

     

    मेरी इबादतों को ऐसे कबूल कर ऐ मेरे.खुदा कि सजदों में मैं झुकूँ
    ! और..मुझसे जुड़े हर रिश्ते की.ज़िन्दगी संवर जाए

     

    सदा दूर रहो ग़म की परछाइयों से,
    सामना न हो कभी तन्हाइयों से,
    हर अरमान हर ख्वाब आपका पूरा हो ,
    यही दुआ है दिल की गहराइयों से।

     

    नसीब की बात मत करो ,
    दुआ तकदीर बदल देती है.

     

    दुआएँ मिल जाये यही काफी है,
    दवाए तो कीमत अदा करने पर मिल ही जाती हैं।

     

    जब भी देखता हूँ किसी के हँसते हुए चेहरे
    दुआ करता हूँ इनको कभी मोहब्बत ना हो

     

    सख्त राहों में भी आसान सफर लगता है,
    ये मेरी माँ की दुआओं का असर लगता है.

     

    कही पर दुआ का इक लफ्ज भी असर कर जाता हैं,
    तो कही बरसों की इबादत हार जाती हैं

     

    तुम दुआ हो मेरी सदा के लिए,
    मै जिंदा हूँ तुम्हारी दुआ के लिए,
    कर लेना लाख शिकवे हमसे,
    मगर कभी खफा न होना खुदा के लिए

     

    कशमकश ज़िन्दगी में सदा आती है,
    सुकून के ही खातिर, दुआ आती है ।

     

    तुम लाख दुआ कर लो मुझसे दूर जाने की.
    मेरी दुआ भी उसी खुदा से है तुझे मेरे करीब लाने की