Dhoka Shayari Status in Hindi – Dhokha Sad Shayri HD Images

    Today there are so many people in the world who are in love. Also there are many people who lost their trust and beliefs from love. For them we are here with a large collection of Dhoka Shayari Status, Hindi Dhoka Shayari, Dhoka Shayari, Dhoka Status, Cheat Status, Cheat Quotes etc.

    Not only lovers find their desired shayari but also all of those persons who have cheated by someone. In the next paragraph we will discuss in brief about dhoka. This page is completely related with Dhoka Status and cheat quotes in hindi with images.

    Dhoka Shayari

    As the title says everything itself. Dhoka means cheat. When a person trust on an another person and believe on him like his own family member and that person leaves him or cheat him this is called dhoka. It is common in love. Today many lovers are cheated by their beloved. They break the trust of their lover.

    After that the cheated person lives alone and sad. He search for Dhoka Status or dhoka shayari on various portals. We are also providing all kind of Hindi Dhoka Shayari Status on this page which are really helpful for you. You will definitely find your desired Dhokha Shayari with photos on this site.

    Hindi Dhoka Shayari

    As we have already discussed about dhoka and what you are going to find on this page in the above paragraphs. Here we will discuss only how to share and copy them. This is a very simple and easy process. You have to simply select the copy option and then you can share that shayari quote with photos where you want.

    If you have any type of Hindi Dhoka Status shayari collection then you can share them with us. Also share this page with your friends on social media and help your friends to find latest and best quotes of Dhoka Status. Visit the page regularly so that you will find new and updated collection of more shayaris on this portal.

     

    दीवानगी का सितम तो देखो कि धोखा मिलने के बाद भी चाहते है हम उनको
    यकीन था कि तुम भूल जाओगे मुझे ,
    ख़ुशी है कि तुम उम्मीद पे खरे उतरे।
    क्यों बहाने करते हो मुझसे रूठ जाने के साफ़ साफ़ कह देते दिल में जगह नहीं है हमारे लिए
    प्यार में धोखा तब तब खायेंगे लोग,
    प्यार जब जब दिल की जगह जिस्म से करेंगे लोग।
    Pyar Mein Dhokha Tab Tab Khayenge Log,
    Pyar Jab Jab Dil Ki Jagah Jism Se Karenge Log!
    ऐ खुदा तू ईश्क ना करना, वरना बड़ा पछताएगा।
    हम तो मर के तेरे पास आ जाते हैं,तू कहां जाएगा।
    खफ़ा रहने का शौक भी पूरा कर लो तुम,
    लगता है तुम्हें हम ज़िन्दा अच्छे नहीं लगते !!
    पहले इश्क़ फिर धोखा फिर बेवफाई ,
    बड़ी तरकीब से एक इश्क़ ने तबाह कर दिया।
    हर ख़ुशी के पहलू हाथों से छूट गए, अब तो खुद के साये भी हमसे रूठ गए,
    हालात हैं अब ऐसे ज़िंदगी में हमारी, प्यार की राहों में हम खुद ही टूट गए।
    विश्वास तो अपनों पर ही किया जाता है,
    अब जाना ज़ख्म भी उन्हीं से मिलता है।
    ले लो वापस दिखाए थे झूठे सपने जो तुमने मुझ को,
    शायद इसकी जरुरत पड़े अगले शिकार में तुझको।
    तुमने हमें धोखा दिया, मगर तुम्हे प्यार मिले।
    मुझसे भी ज़्यादा दीवाना तुम्हे कोई यार मिले।
    उस धोकेबाज़ ने बेशक मेरा दिल तोडा
    मगर दिल के उन्ही टुकडो में आज भी वो धोकेबाज़ बसा है.
    अब किस्मत ही मिला दे तो मिला दे,
    वरना हम तो बिछड़ गए है, तूफ़ान में परिंदों की तरह
    तुमने प्यार ना सही पर तुम्हारे धोखे ने मुझे बहुत हिम्मत दी है
    किसी ने मुझे ये सिखा दिया कि,
    हद से ज्याद किसी को चाहना बुरी बात है ।
    Kisi Ne Mujhe Ye Sikha Diya Ki,
    Had Se Jyada Kisi Ko Chahna Buri Baat Hai!
    जीते जी मौत से रूबरू होना है
    तो किसी बेवफा से मोहब्बत कर लो
    Jeete Ji Maut Se Rubaru Hona Hai,
    To Kisi Bewafa Se Mohabbat Kar Lo
    कौन कहता है की वो मुझसे बिछड़ कर खुश है,
    बस एक बार उसके सामने मेरा नाम लेकर तो देखो
    तेरे इस झूठे मोहब्बत के फ़साने में ऐसा खो गया मैं,
    की तुझे पाने के लिए दुनिया तो छोड़ो खुद को भी भूल गया मैं।
    जाते जाते धोकेबाज़ मेरे दिल की वफादारी भी क्यों ले गयी,
    है तो ये मेरे सीने में पर ये तेरे लिए रोता है।
    वजह नहीं मिल रही थी मुझे छोड़ने की तो,
    मुझ पर ही बेवफाई का दाग लगा दिया।
    मुझको छोड़ने की  वजह तो बता देते मुझसे  नाराज थे या मुझ जैसे हज़ारो थे
    तेरी मोहब्बत भी बादलों की तरह निकली, छाई मुझ पर और  बरस किसी और पर गयी.
    चले आओ सनम बस आखिरी साँसें बची हैं कुछ,
    तुम्हारी दीद हो जाती तो खुल जातीं मेरे आँखें।
    सुनी सुनाई बात पर भरोसा ना था.
    धोका खाने पर सारी बाते समझ आ गयी.
    आज भी प्यारी है मुझे तेरी हर निशानी ..
    फिर चाहे वो दिल का दर्द हो या आँखो
    का पानी।
    न जाने कौन सा आँसू मेरा राज़ खोल दे,
    हम इस ख़्याल से नज़रें झुकाए बैठे हैं।
    जब धोखा ही था तुम्हारी मोहब्बत.
    तो झूठ अपनी लबो को कहने देते.
    और जब मै सुखी था, मुझे अपने बिना ही रहने देते
    धोका तूने ऐसा दिया.
    मेरी जिंदगी का हर मकसद
    मुझसे छीन लिया
    अगर किसी से मिलो तो
    जरा दुर से मिलना
    क्युकी छाती से लगाने वाले
    अक्सर धोखेबाज़ होते हैं
    रुलाना छोड दे ऐ-ज़न्दगी तू हमे,
    हम खफा हुए तो, एक दिन तुझे छोड़ देंगे।
    मुझे इस बात गए गम नहीं
    कि तू बेवफा निकली
    अफ़सोस तो इस बात का है कि
    वो लोग सच्चे निकले जिनसे मैं
    तेरे लिए लड़ा करता था।
    ना चाहते हुए भी छोड़ना पड़ता है
    साथ कभी कभी कुछ मज़बूरियों मोहब्बत
    से भी ज्यादा गहरी है।
    पता नहीं कैसे
    धोखा खाकर भी, हम जिंदा हैं
    पर तुझसे इश्क करके
    हम बहुत शर्मिंदा हैं
    मैं मतलबी नहीं जो तुम्हे धोखा दे दू
    बस इतना समझ लेना मैं तुम्हे समझ नहीं पाया
    हम कितने बेवफा हैं
    एक दम उनके दिल से निकल गए
    उनमे कितनी वफ़ा थी
    आज तक हमारे दिल से नहीं निकले।
    अब सजा दे ही चुके हो तो
    मेरा हल न पूछना
    अगर मैं बेगुन्हा निकला तो अफ़सोस
    बहुत होगा
    दोस्ती करो तो हमेशा मुस्करा कर,
    किसी को धोखा ना दो अपना बनाकर कर,
    कर लो याद जब तक हम ज़िंदा है,
    फिर ना कहना चले गए हम दिल में यादें बसा कर…
    इंसान सब कुछ भूल जाता है
    सिवाए उन लम्हों के जब उसे अपनों
    की ज़रूरत थी और वो साथ नहीं थे।
    चलो धोका ही था तुम्हारा इश्क.
    सब झूठ था, तो झूठ अपनी जुबा को कहने देते.
    मै खुश था, मुझे धोखे में ही रहने देते.
    अब कोई और न धोखा देगा, ‪इतनी उम्मीद तो वापस कर दे.
    ‪हम से हर ख़्वाब छीनने वाले, ‪हमारी नींद तो वापस कर दे.
    तकलीफ ये नही की किस्मत ने मुझे धोखा दिया…
    अफसोस तो ये हे की मेरा यकीन तुम पर था किस्मत पर नही
    न तुमको कोई ऐसा मौका देते की तुम धोका देते.
    अच्छा होता बेडियो से बाँध कर
    अपने गिरफ्त में रखते.
    प्यार में धोखा खाये लड़कों के लिये काम की बात,
    खुल के रो लो तुम्हारा कौन-सा काजल फैल जाना है !
    छोड़ दी किसी बेवफा की आस…
    जो रूठ सकते हैं वो भूल भी सकते हैं!
    तेरी दोस्ती ने दिया शकुन इतना की तेरे
    बाद कोई अच्छा भी न लगे
    तुझे करनी है बेवफाई तो इस क़दर करना
    की तेरे बाद कोई बेवफा भी न लगे
    धोखा देकर ऐसे चले गए
    जैसे कभी जानते ही नहीं थी
    अब ऐसे नफरत जताते हो
    जैसे प्यार को मानते ही नहीं थे
    कितने झूठे होते हैं मोहब्बत के वादे…
    तुम भी ज़िंदा हो! और मै भी ज़िंदा हूँ…
    दर्द इतना था ज़िंदगी में कि धड़कन साथ देने से घबरा गयी!
    आंखें बंद थी किसी कि याद में और मौत धोखा खा गयी
    धोखा देती है शरीफ चेहरे की चमक अक्सर
    हर कांच का टुकड़ा हीरा नहीं होता
    जो दिखाई देता है वो हमेशा सच नहीं होता,
    कहीं “धोखे में आँखे है” तो कहीं आँखों में धोखा है।